UPTGT Latest News in Hindi

UPTGT Latest News in Hindi

UPTGT Latest News in Hindi

UPTGT Latest News in Hindi

UPTGT Latest News in Hindi: प्रदेश के माध्यमिक विद्यालयों (Secondary schools) में बीते पांच साल  से शिक्षकों (Teachers) की भर्ती नहीं होने से यूपी बोर्ड (UP Board) को प्रायोगिक परीक्षाओं के लिए परीक्षक ही नहीं मिल पा रहे हैं। यूपी बोर्ड के क्षेत्रीय कार्यालयों (Regional Offices) की तरफ  से जिला विद्यालय निरीक्षकों से विषयवार परीक्षकों के नाम मांगे गए थे, ओर वह समय से नहीं भेजे जा सके हैं। परीक्षकों की इस कमी के कारण इस बार बोर्ड को प्रायोगिक परीक्षा कराना बड़ा कठिन हो जाएगा।

UP TGT PGT Latest News

उत्तर प्रदेश (UP) माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड की तरफ  से 2010 के बाद शिक्षकों (Teachers) की भर्ती प्रक्रिया आगे नहीं बढ़ने के कारण माध्यमिक विद्यालयों में प्रमुख विषयों के शिक्षकों की कमी हो गई है। चयन बोर्ड की तरफ  से 2011 ओर  2013 में शिक्षकों के करीब 15000 पदों की घोषणा की गई थी। पदों की घोषणा होने के बाद भी चयन प्रक्रिया को लेकर लगातार विवाद बने रहने के कारण स्कूलों को टीजीटी (TGT) विज्ञान, सामाजिक विज्ञान, कंप्यूटर साइंस जैसे प्रायोगिक परीक्षा वाले विषयों के शिक्षक नहीं मिल रहे। बोर्ड की तरफ  से हाईस्कूल स्तर पर प्रायोगिक परीक्षा खत्म कर दिए जाने के बाद ही स्कूली स्तर पर 30 अंक की परीक्षा होती है, इसके लिए परीक्षक स्कूल के ही होते हैं।

इंटरमीडिएट में जीव विज्ञान, भौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञान, सैन्य विज्ञान, भूगोल, संगीत, कृषि, कंप्यूटर, गृह विज्ञान, फोटोग्राफी की प्रायोगिक परीक्षा के लिए परीक्षकों की बड़ी कमी बनी हुई है। माध्यमिक विद्यालयों में इन विषयों के शिक्षकों की कमी बनी है। इन विषयों में शिक्षकों की कमी के कारण यूपी यूपी बोर्ड (UP Board) को प्रायोगात्मक परीक्षाओं के लिए परीक्षक नहीं मिल पा रहे हैं। यही हाल रहा तो बोर्ड को एक बार फिर से रिटायर्ड शिक्षकों (Retired teachers) के सहारे ही प्रैक्टिकल परीक्षाएं करानी पड़ सकती हैं। यूपी बोर्ड की प्रायोगात्मक परीक्षाओं के लिए विषयवार परीक्षकों की कमी बनी हुई हे

 
Posted in ALL, Latest News, UPTGT-UPPGT Tagged with: , ,

Categories