UPPSC High Court News

UPPSC High Court News

UPPSC High Court News

UPPSC High Court News: up pcs 2015 प्री में गलत जवाब का दर्द लोक सेवा के आयोग की पीसीएस सन 2015 प्रारंभिक परीक्षा में कितने प्रश्नों के गलत उत्तर को लेकर विवाद गहरा हो गया है। उत्तरों की कुंजी में संशोधन के बावजूद भी अभ्यर्थियों ने कितने प्रश्नों के गल्त जवाब को सही मानने का आरोप लगा दिया है। पिसीएस अभ्यर्थियों ने इस मामले की हाईकोर्ट में याचिका को दाखिल किया है, जिस के उपर पर शुक्रवार को सुनवाई की पूरी उम्मीद है। आयोग की ये पहली परीक्षा नहीं है, की जिसके कोई गलत जवाब को लेकर विवाद उठा है। दो बार तो रिजल्ट को ही बदलना पड़ा है। इसके बावजूद भी यह शिकायत तकरीबन हर एक परीक्षा में सामने आयी है। प्रतियोगियों ने पीसीएस-2015 प्रारंभिक परीक्षा के संशोधित उत्तरों की कुंजी में भी कितने प्रश्नों के जवाब पर आपत्ति दर्ज करा दी थी। उसमें करीब तीन ऐसे प्रश्न हैं जिनके जवाब आयोग ने पूर्व परीक्षाओं में कुछ और भी पीसीएस-2015 में दुसरे जवाब को सही माना है। प्रतियोगियों द्वारा कहना है कि आयोग ने गलती को भी स्वीकार किया है। उनके अनुसार पहले पेपर में छह व् दूसरे पेपर में एक प्रश्न का जवाब गलत है।

इसी से 11 नंबर का अंतर सामने आ रहा है। अगर प्रतियोगियों के दावे सच हैं तो पूरा रिजल्ट को ही बदल दिया जाएगा। विशाल मिश्रा और 30 अन्य अभ्यर्थियों की तरफ से इस मामले की हाईकोर्ट में याचिका को दाखिल कर दिया गया है। ये अभ्यर्थी मेरिट में एक या दो नंबर से ही पीछे रह गये थे। इन सब की मांग है कि सही जवाब के आधार पर ही परीक्षा में उपस्थित सभी अभ्यर्थियों को शामिल कर के नए सिरे से रिजल्ट को घोषित किया जाए। इन सब की याचिका पर बृहस्पतिवार को सुनवाई की उम्मीद की जा रही है। आयोग भर्ती परीक्षाओं में इस तरह के आरोप कोई पहली बार नहीं लगे । करीब हर परीक्षा में गलत जवाब को सही माने जाने का आरोप लगते ही रहे हैं। कितनी परीक्षाओं में तो आयोग ने 15-15 प्रश्नों के जवाब को संशोधित किए। इसके बाद भी विवाद बना रहा है । प्रतियोगी छात्र संघर्ष समिति के अध्यक्ष अयोध्या सिंह का ये कहना है कि गड़बड़ी करने के लिए जानबूझकर ये विवाद पैदा किए जाते रहे है । सात प्रश्नों पर तो विवाद से 11 नंबर का अंतर, अगर आरोप सही है तो बदल जाएगी मेरिट ओर नए सिरे से रिजल्ट की मांग को लेकर हाईकोर्ट गए अभ्यर्थी, कल होगी सुनवाई 

 
Posted in ALL, Latest News, UPPSC Tagged with: , ,

Categories