SSC CGL TIER 1 Melting Point Study Material In Hindi

SSC CGL TIER 1 Melting Point Study Material In Hindi

SSC CGL TIER 1 Melting Point Study Material In Hindi

गलनांक

SSC CGL TIER 1 Melting Point Study Material In Hindi

SSC CGL TIER 1 Melting Point Study Material In Hindi

  • वह ताप जिस पर कोई ठोस अपनी ठोस अवस्था से द्रव अवस्था में परिवर्तित हो जाता है, गलनांक कहलाता है।
  • बर्फ के लिए गलनांक 00 C होता है।

Know Boiling Point For SSC CGL TIER 1

क्वथनांक

  • वह ताप, जिस पर किसी द्रव का वाष्पदाब वायुमण्डलीय दाब के बराबर हो जाता है, क्वथनांक कहलाता है।
  • अशुद्धि की उपस्थिति में यह बढ़ जाता है। इसी कारण समुद्री जल का क्वथनांक सामान्य जल की अपेक्षा अधिक होता है।
  • भिन्न स्थानों पर यह भिन्न-भिन्न होता है।
  • सामान्यत: ऊँचाई पर जाने पर क्वथनांक कम हो जाता है। यही कारण है की ऊँचाई पर जल कम ताप पर उबलने लगता है। अत: भोजन को पकाने में अधिक समय लगता है।
  • प्रेशर कुकर में उच्च दाब होने के कारण क्वथनांक (जल के लिए) उच्च होता है, अत: भोजन कम समय में ही पक जाता है। सामान्य परिस्थितियों में जल के लिए क्वथनांक 1000C होता है।

Evaporation Study Material In Hindi

वाष्पीकरण

  • वह प्रक्रम, जिसमें कोई भी द्रव अपने क्वथनांक से कम किसी भी तापमान पर वाष्प में परिवर्तित हो जाता है, वाष्पीकरण कहलाता है।
  • वाषपीकरण की दर, पृष्ठ सतह का क्षेत्रफल तथा तापमान बढ़ने के साथ बढ़ती है।
  • इससे ठण्डक उत्पन्न होती है। यही कारण है कि हाथ पर स्पिरिट अथवा ईथर डालने पर ठण्डक महसूस होती है।

Sublimation For SSC CGL TIER 1

ऊर्ध्वपातन

  • यह वह प्रक्रम है, जिसमें कोई पदार्थ बिना द्रव में परिवर्तित हुए अपनी ठोस अवस्था से वाष्प अवस्था में परिवर्तित हो जाता है।
  • इसका प्रयोग ऊर्ध्वपातज (वे पदार्थ जो ऊर्ध्वपातित होते हैं; जैसे- कपूर, नैफ्थेलीन, अमोनियम क्लोराइड आदि) को एन्य पदार्थों से पृथक करने के लिए किया जाता है।
  • इसके द्वारा दो ठोसों के मिश्रण को पृथक किया जा सकता है जिसमें एक ठोस ऊर्ध्वपातज होता है दूसरा नहीं।

 Know Atom Study Material In Hindi

परमाणु

  • द्रव्य का वह सूक्ष्मतम् कण, जो किसी रासायनिक अभिक्रिया में भाग लेता है, परमाणु कहलाता है। (डाल्टन परमाणु सिद्धान्त)
  • परमाणु स्वतन्त्र अवस्था में नहीं रहता है। जॉन डाल्टन ने सन् 1803 में परमाणु सिद्धान्त का प्रतिपादन किया।
  • परमाणु कई प्रकार के सूक्ष्म कणों से बना होता, जिनमें इलेक्ट्रॉन, प्रोटोन एवं न्यूट्रॉन मुख्य हैं।
  • इन कणों को मौलिक कण (fundamental particles) भी कहा जाता है। उदाहरण-आयरन (Fe), सोना (Au), चाँदी (Ag) आदि।

Molecules For SSC CGL TIER 1

अणु

द्रव्य का वह सूक्ष्मतम् कण, जो मुक्त अवस्था में रह सकता है, अणु कहलाता है। अणु रासायनिक अभिक्रियाओं में भाग नहीं ले सकता। इसमें उस पदार्थ के सभी गुण विद्यमान रहते हैं।

अणु दो प्रकार का होता है

  1. तत्व का अणु
  2. यौगिक का अणु
  3. तत्व का अणु यह किसी तत्व के दो या अधिक परमाणुओं के संयोग द्वारा निर्मित होता है; जैसे- हाइड्रोजन का अणु (H2), सल्फर का अणु (S8) आदि।
  4. यौगिक का अणु जब एक से अधिक तत्वों के परमाणु परस्पर मिलकर सूक्ष्तम स्वतन्त्र कणों का निर्माण करते हैं, तो यौगिक बनता है।

उदाहरण-जल (H2O), अमोनिया(NH3), कार्बन डाइऑक्साइड (CO2) आदि।

  • अणु निर्माण दो या अधिक परमाणुओं के निश्चित अनुपात में जुड़ने से होता है। (डाल्टन द्वारा दिया गुणित अनुपात का नियम)
  • किसी अणु का अणुभार निश्चित होता है। इसे अणु में उपस्थित सभी परमाणुओं के परमाणु भारों को जोड़कर प्राप्त किया जाता है।

SSC CGL Study Material Sample Model Solved Practice Question Paper with Answers

Join Our CTET UPTET Latest News WhatsApp Group

Like Our Facebook Page

 

 
Posted in A WhatsApp Group to Become a Force, ALL, Latest SSC News In Hindi, SSC, SSC CGL Study Material, ssc result news Tagged with: , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Categories