SSC CGL TIER 1 Wave Study Material In Hindi

SSC CGL TIER 1 Wave Study Material In Hindi

SSC CGL TIER 1 Wave Study Material In Hindi

तरंग

SSC CGL TIER 1 Wave Study Material In Hindi

SSC CGL TIER 1 Wave Study Material In Hindi

तरंग वह विक्षोभ है, जो ऊर्जा का एक स्थान से दूसरे स्थान तक संचरण करता है।

Types Of Waves For SSC CGL TIER 1

तरंगें सामान्यतया दो प्रकार की होती हैं

  1. यान्त्रिक तरंगें (अनुदैर्ध्य तरंग तथा अनुप्रस्थ तरंग)
  2. विद्युत चुम्बकीय तरंगें

यान्त्रिक तरंग (H), वे तरंगे जिनको संचरित होने के लिए किसी माध्यम की आवश्यकता होती है, यान्त्रिक तरंगें कहलाती हैं।

ये दो प्रकार की होती हैं

  1. अनुदैर्ध्य तरंग
  2. अनुप्रस्थ तरंग

Know Longitudinal Wave Study Material In Hindi

अनुदैर्ध्य तरंग 

जब तरंग गति की दिशा माध्यम के कणों के कम्पन करने की दिशा के अनुदिश (या समान्तर) होती है, तो ऐसी तरंग को अनुदैर्ध्य तरंग कहते हैं। ध्वनि तरंगे, अनुदैर्ध्य तरंगों के उदाहरण हैं।

Know Transverse Wave Study Material In Hindi

अनुप्रस्थ तरंग 

जब तरंग गति की दिशा माध्यम के कणों के कम्पन करने की दिशा के लम्बवत् होती है, तो इस प्रकार की तरंगों को अनुप्रस्थ तरंग कहते हैं। पानी की सतह पर उत्पन्न तरंगें, प्रकाश तरंगें आदि अनुप्रस्थ तरंगों के उदाहरण हैं।

Electromagnetic Waves For SSC CGL TIER 1

विद्युत चुम्बकीय तरंगें

ये ऐसी तरंगें होती हैं, जिसके संचरण के लिए किसी माध्यम की आवश्यकता नहीं होती। प्रकाश, ऊष्मा, विद्युत चुम्बकीय तरंगों के उदाहरण हैं। ये तरंगें प्रकाश की चाल से संचरण करती हैं।

  • कैथोड किरणें, कैनाल किरणें, α, β-तरंग, ध्वनि तरंग तथा पराश्रव्य तरंगे विद्युत-चुम्बकीय तरंगे नहीं हैं।

Know Sound Waves Study Material In Hindi

ध्वनि तरंगें

ध्वनि एक स्थान से दूसरे स्थान तक तरंगों के रुप में गमन करती है। ध्वनि तरंगें अनुदैर्ध्य यान्त्रिक तरंगें होती हैं।

Frequency of Sound Waves For SSC CGL TIER 1 

ध्वनि तरंगों के आवृत्ति परिसर

श्रव्य तरंगे (Audible Waves Study Material In Hindi) 

20 हर्ट्स से 20000 हर्ट्स के बीच की आवृति वाली तरंगों को श्रव्य तरंगें कहते हैं। इन तरंगों को मानव सुन सकता हैं।

अपश्रव्य तरंगें (Infrasonic Waves Study Material In Hindi)

20 हर्ट्स से नीचे की आवृत्ति वाली ध्वनि तरंगों को अपश्रव्य तरंगे कहते हैं। इसे मानव नहीं सुन सकता।

पराश्रव्य तरंगें (Ultrasonic Waves Study Material In Hindi)

20000 हर्ट्ज से ऊपर की तरंगों को पराश्रव्य तरंगें कहा जाता हैं, मानव के कान इसे  सुन नहीं सकते हैं। लेकिन बिल्ली, कुत्ता, मच्छर इत्यादि इन तरंगों को सुन सकते हैं। चमगादड़ इन तरंगों को उत्पन्न भी कर सकता है।

Know Sonar SSC CGL TIER 1

सोनार

यह एक ऐसी विधि है, जिसके द्वारा समुद्र में डूबी हुई वस्तुओं का पता लगाया जाता है। इसके लिए पराश्रव्य तरंगों का प्रयोग किया जाता है।

Use Of Ultrasonic Waves Study Material In Hindi

पराश्रव्य तरंगों के उपयोग

(1) संकेत भेजने में, (2) समुद्र की गहराई का पता लगाने में, (3) कीमती कपड़ों, वायुयान तथा घड़ियों के पुर्जों को साफ करने में, (4) कल-कारखानों की चिमनियों से कालिख हटाने में, (5) दूध के अन्दर के हानिकारक जीवाणुओं को नष्ट करने में, (6) अंधेरे में चमगादड़ का उड़ना, (7) गठिया रोग के उपचार एवं मस्तिष्क के ट्यूमर का पता लगाने में।

SSC CGL Study Material Sample Model Solved Practice Question Paper with Answers

Join Our CTET UPTET Latest News WhatsApp Group

Like Our Facebook Page

 
Posted in A WhatsApp Group to Become a Force, ALL, Latest SSC News In Hindi, SSC, SSC CGL Study Material, ssc result news Tagged with: , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Categories