SSC CGL TIER 1 Natural Rubber Study Material In Hindi

SSC CGL TIER 1 Natural Rubber Study Material In Hindi

SSC CGL TIER 1 Natural Rubber Study Material In Hindi

प्राकृतिक रबर

SSC CGL TIER 1 Natural Rubber Study Material In Hindi

SSC CGL TIER 1 Natural Rubber Study Material In Hindi

  • यह पौधे के दूध से प्राप्त होती हैं।
  • यह एक प्रत्यास्थ बहुलक है।
  • यह आइसोप्रीन का बहुलक है [संश्लेषित रबर (निओप्रीन), क्लोरोप्रीन का बहुलक है।]
  • यह जल, तनु अम्ल व क्षार में अविलेय होती है। यह अत्यधिक जल का अवशोषण करती है। इसकी तन्य क्षमता तथा प्रत्यास्थ बहुत कम होती है।
  • कृत्रिम रबर या संश्लेषित रबर—कृत्रिम स्त्रोतों से प्राप्त। कृत्रिम रबर का विकास मैथ्यूस एवं हैरिस द्वारा द्वीतीय विश्व युद्ध के दौरान किया गया था।उदाहरण—नायलॉन-66, डेक्रॉन, आरलॉन आदि।
  • इसको ZnO की उपस्थिति में, 313 K पर, सल्फर के यौगिक के साथ गर्म करके इसके गुणवत्ता को बढ़ाया जा सकता है। यह प्रक्रम रबर का वल्कनीकरण कहलाता है।
  • रबर को 5% S के साथ वल्कनीकृत करने पर, इसका प्रयोग टायर निर्माण में किया जाता है तथा इसे 30% S के साथ वल्कनीकृत करने पर इसका प्रयोग बैटरी के केस (Battery Case) बनाने में किया जाता है।

Know Fibres Study Material In Hindi

रेशे

  • इसमें प्रबल अन्तरआण्विक बल जैसे हाइड्रोजन बन्ध उपस्थित होते हैं।
  • विपक्ष-पॉलीआइसोप्रीन को गट्टा पर्चा कहते हैं।
  • थायकॉल रबर, एथिलीन क्लोराइड तथा सोडियम पॉलीसल्फाइड का बहुलक है। इसका प्रयोग हॉस (Hoses), टैंक की सतह, इंजन के गैस केट बनाने में व प्रणोदक के रुप में किया जाता है।

Explosives For SSC CGL TIER 1

विस्फोटक

  • ऐसे पदार्थ, जिनके दहन पर अत्यधिक ऊष्मा और तीव्र ध्वनि उत्पन्न होती है, विस्फोटक कहलाते हैं। प्रमुख विस्फोटक निम्न हैं

T.N.G-नोबल तेल, डायनामाइट निर्माण

डायनेसाइड अल्फ्रेड नोबल

T.N.P-पिक्रिक अम्ल

ट्राईनाइट्रो टालूईन (टी.एन.टी. सर्वाधिक प्रयोग में आने वाला विस्फोटक), नाइट्रोग्लिसरीन या ट्राइनाइट्रोग्लिसरीन, साइक्लो ट्राइमेथिलीन ट्राइनाइट्रेमीन (आर.डी.एक्स, प्लास्टिक विस्फोटक) है। RDX को साइक्लोनाइट भी कहा जाता है।

कुछ रेशे एवं उनके एकलक तथा उपयोग

रेशे

एकलक

उपयोग

नायलॉन-66 ऐडिपिल अम्ल + हेक्सामेथिलीन डाइऐमीन ब्रुश के कडे बाल (bristles), संश्लेषित रेशे, पैराशूट बनाने में, बेयरिंग में धातु के स्थान पर
नायलॉन-6 या परलॉन कैप्रोलेक्टम रेशे, प्लास्टिक, टायर कॉर्ड तथा रस्सी बनाने में।
टेरीलीन एथिलीन ग्लाइकॉल + टेरीथैलिक अम्ल धो सकने वाले कपड़े, टायर कॉर्ड, सेफ्टी बेल्ट, टेन्ट आदि के निर्माण में।
केवलार टेरीथैलिक अम्ल + 1,4-डाइऐमीन बेन्जीन गोलीरोधक वेस्ट (bulletproof vests) बनाने में।
लेक्सेन या पॉलीकार्बोनेट डाइएथिल कार्बोनेट + बिसफीनॉल A गोलीरोधक खिड़की तथा सेफ्टी हेलमेट बनाने में।

SSC CGL Study Material Sample Model Solved Practice Question Paper with Answers

Join Our CTET UPTET Latest News WhatsApp Group

Like Our Facebook Page

 
Posted in A WhatsApp Group to Become a Force, ALL, Latest SSC News In Hindi, SSC, SSC CGL Study Material, ssc result news Tagged with: , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Categories