SSC CGL TIER 1 Internal Himalayas Study Material In Hindi

SSC CGL TIER 1 Internal Himalayas Study Material In Hindi

SSC CGL TIER 1 Internal Himalayas Study Material In Hindi

  1. वृहद् हिमालय या आन्तरिक हिमालय

SSC CGL TIER 1 Internal Himalayas Study Material In Hindi

SSC CGL TIER 1 Internal Himalayas Study Material In Hindi

  • इसकी औसत ऊँचाई 6000 मी है।
  • विश्व की सर्वाधिक ऊँची चोटियाँ इसी श्रेणी में पाई जाती हैं। माउण्ट एवरेस्ट या सागरमाथा इसकी सबसे ऊँची चोटी है।
  • अन्य चोटियाँ हैं कंचनजंघा, मकालू, धौलागिरि, नंगा पर्वत, अन्नपूर्णा, नन्दा देवी।
  • उत्तराखण्ड की नन्दा देवी चोटी कुमायूँ हिमालय का भाग है।
  • भारत में हिमालय की ऊँची चोटी कंचनजंघा है, जो सिक्किम और नेपाल की सीमा पर है।
  • भारत का सर्वोच्च शिखर-माउण्ट K2 (गॉडविन ऑस्टिन), जो कराकोरम श्रेणी में है, जोकि ट्रांस हिमालय का भाग है। यह पाक अधिकृत कश्मीर में है।
  • इसी श्रेणी में भारत के प्रमुख दर्रे सम्मिलित हैं। इनमें शिपकी ला और बारालाचाला (हिमाचल प्रदेश), बुर्जिल एवं जोजिला (कश्मीर), नीतिला, लिपुलेख ला और थागला (उत्तराखण्ड) तथा जेलेप्ला और नाथूला (सिक्किम) स्थित हैं।

  • पंजाब हिमालय — सिन्धु तथा सतलज के मध्य
  • कुमायूँ हिमालय — सतलज तथा काली के मध्य
  • नेपाल हिमालय — काली तथा तिस्ता के मध्य
  • असोम हिमालय — तिस्ता तथा दिहांग के मध्य

SSC CGL TIER 1 Himachal Range Study Material In Hindi

  1. लघु हिमालय या हिमाचल श्रेणी

  • इसका विस्तार मुख्य हिमाचल के दक्षिण में है। इसकी औसत ऊँचाई 3700–4500 मी है।
  • पीरपंजाल, धौलाधर, नागटिब्बा, महाभारत आदि श्रेणियाँ इसी लघु हिमालय में हैं।
  • कश्मीर, काठमाण्डू, काँगड़ा और कुल्लू घाटियाँ इसी श्रेणी में हैं। (अर्थात् मध्य हिमालय और शिवालिक के बीच)
  • भारत के महत्वपूर्ण पर्यटन स्थल शिमला मसूरी, नैनीताल, चकराता, रानीखेत, दार्जिंलिंग इसी श्रेणी में हैं।
  • लघु हिमालय के ढाल पर छोटे–छोटे घास के मैदान पाए जाते हैं जिन्हें कश्मीर में मर्ग (यथा–सोनमर्ग, गुलमर्ग)

उत्तराखण्ड में बुग्याल या पयार कहा जाता है।

  • इसमें पीरपंजाल एवं बनिहाल दर्रे प्रमुख हैं।

SSC CGL TIER 1 Shivalik Study Material In Hindi

  1. शिवालिक या बाह्र हिमालय

  • यह हिमालय की सबसे दक्षिणी श्रेणी या पाद श्रेणी है। इसकी औसत ऊँचाई 600 से 1500 मी है। इसमें मिट्टी और कंकड़ के बने ऊँचे मैदान मिलते हैं जिन्हें पश्चिम में दून (देहरादून) तथा पूर्व में द्वार (हरिद्वार) कहते हैं। इसके पश्चात् भारत के विशाल मैदान की शुरुआत होती है।
  • जास्कर और लद्दाख श्रेणी (कश्मीर में) जिनमें बीच सिन्धु नदी बहती है, जो लद्दाख श्रेणी को बुंजी नामक स्थान पर काटकर भारत की सबसे गहरी गार्ज (5200 मी गहरी) का निर्माण करती है।
  • जम्मू–कश्मीर में पश्चिम से पूर्व की ओर पर्वत श्रेणियों का क्रम कराकोरम —> लद्दाख —> जास्कर—> पीरपंजाल श्रेणी
  • पटकोई, लुशाई, गारो, खासी, जयन्तिया, बरैल, मिकिर पर्वत श्रेणी (मेघालय) पूर्वी राज्यों में हैं।

SSC CGL Study Material Sample Model Solved Practice Question Paper with Answers

Join Our CTET UPTET Latest News WhatsApp Group

Like Our Facebook Page

 
Posted in A WhatsApp Group to Become a Force, ALL, Latest SSC News In Hindi, SSC, SSC CGL Study Material, ssc result news Tagged with: , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Categories