Shiksha Mitra UP Latest News

Shiksha Mitra UP Latest News 

Shiksha Mitra UP Latest News

Shiksha Mitra UP Latest News

Shiksha Mitra UP Latest News: दोस्तों अब छुट्टी बीत गयी आज Saturday को सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) भी बंद रहेगा संघ की तरफ से MHRD or NCTE से लैटर के सम्बन्ध में भी पूरी कोशिस जारी है। मगर कुछ रूख समझ नहीं आ रहा है। दिनांक 16 तारीख से वनारस में प्रधानमंत्री कार्यालय पर मंडलवार अनिश्चितकालीन धरना भी सुरु है। मगर सबसे बड़ा सवाल प्रधानमंत्री जी तो ब्रिटेन का दोरा कर रहे है। अब हमारी कौन सुनेगा क्या mhrd लैटर जारी करेगा। एक बड़ा सवाल मुझे लगता है कि कही न कही हमारे नेता MHRD or NCTE से ही धोखा खा गए हम बड़ी जल्द NCTE की बात मान गए ।लेकिन मैं कहना चाहता हूँ की mhrd or ncrt दोनों साफ साफ सुन लो

Shiksha Mitra News Today in Hindi

Shiksha Mitra Current News in Hindi

1÷ अगर हमारे मामले में कोर्ट से हमें न्याय नहीं मिलता हे तो 170000 चिताएं MHRD or ncte कार्यालय के बाहर ही भारत सरकार तुमको ही अपने हाथ से जलाना पड़ेगा।

2÷ तुम्हारी यह दोहरी नीती हम नहीं चलने देंगे उत्तराखंड टी इ टी (TET) से छूट हमको क्यों नहीं?

3÷ हम नियम कानून नहीं जानते की क्या है मगर ये बताओ की अगर नियमो में गलती थी तो किसने नियम बनाये शिक्षामित्रों के 15 वर्ष की जवानी का हिसाब कौन देगा।

4÷ मेरा कोर्ट (Court) से भी सवाल है की यदि शिक्षामित्र की नियुक्ति गलत थी तो सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) और हाई कोर्ट (High Court) ने उस समय ही स्वतः संज्ञान में लेकर क्यों नहीं रोक दिया गया 2 वर्ष वेतन देने के बाद अब रोक लगाने का क्या औचित्य?

5÷यही काम यदि रोक लगाने का काम खुद NCTE or MHRD भी स्वतः संज्ञान ले कर सकती थी मगर नहीं किया बल्कि आँख मूंद क़र देखती रही क्यों?

6÷59 शिक्षामित्र ने इस बात को नहीं सहन कर पाये और देश समाज और लाचारी के कारण मौत को गले लगा लिया । क्या उन मौतों का कोई भी जिम्मेवार नहीं?

दोस्तों मेरा लिखने का केवल मकशद इतना है कि मै भारत की सरकार और सुप्रीम कौर्ट को यह बताना चाहता हूँ कि आप लोग आँख मूंद कर 170000 शिक्षामित्र के भाग्य का फैसला नहीं लिख सकते क्योंकि शिक्षामित्र के पास खोने के लिए अब कुछ बचा नहीं है। इस फैसले का असर इनकी आने वाली पिढीयो पर पड़ेगा।

 
Posted in ALL, Latest News, Shiksha Mitra, Shiksha Mitra Tagged with: , ,

Categories