PSC Direct Bharti CBI Inspection Latest News in Hindi

PSC Direct Bharti CBI Inspection Latest News in Hindi

PSC Direct Bharti CBI Inspection Latest News in Hindi

उप्र लोक सेवा आयोग (Deputy Public Service Commission) ने विगत Five
Months में जितने भी Backlog के Result जारी किए हैं उन पर भी CBI (Central Bureau of Investigation) जांच की आंच आएगी। Commission ने अधिकतर उन्हीं Selection Examinations के Interview कराने के बाद Result जारी किए हैं जिनके Application सपा शासनकाल में Direct Bharti के तहत लिए गए थे।

PSC Direct Bharti CBI Inspection Latest News in Hindi

PSC Direct Bharti CBI Inspection Latest News in Hindi

पू्र्व अध्यक्ष Anil Yadav पर Candidates के Selection में धांधली के गंभीर आरोप लगे थे, जबकि जिन प्रतियोगी छात्रों ने भर्तियों की CBI Inspection के लिए जमकर आंदोलन किया था और प्रकरण Court में ले गए थे उन्हें Backlog के जारी हो रहे Results और अध्यक्ष की कार्यशैली पर भी संदेह हैं।

Some Related Links For PSC Bharti :

UP PSC Bharti Online Exam Latest News in Hindi

 PSC RO ARO 2017 Bharti Latest News in Hindi

UP PSC Lecturer Direct Bharti Result Latest News in Hindi

गौरतलब है कि Deputy Public Service Commission से सपा शासन में हुई सभी भर्तियों की जांच का उप्र सरकार ने 19 July को एलान किया था। इसके 4.5 Months बाद केंद्रीय कार्मिक मंत्रालय (Central Personnel Ministry) ने भर्तियों की CBI जांच का Notification पिछले दिनों जारी किया है। रीवर फ्रंट घोटले की जांच के बाद उप्र Public Service Commission से हुई भर्तियों की जांच शुरु होनी है। फिलहाल UP में प्रशासनिक पदों सहित अन्य विभागीय सेवाओं के अंतर्गत हुई 600 से अधिक भर्तियां जांच के दायरे में प्रथम दृष्टया हैं लेकिन Commission से सपा शासन के Five Year के कार्यकाल में अधिकतर चयन Direct Bharti के जरिए ही हुए। प्रतियोगी छात्रों ने Direct Bharti से Selection Process पर अंगुली उठाते हुए व्यापक रुप से धांधली का आरोप लगाया है।

इस बीच Five Months में आयोग ने Degree Colleges Or Inter College में
प्रवक्ताओं के सबसे अधिक Result जारी किए। इनके अलावा मुख्य अग्निशमन अधिकारी अपर निजी सचिव, समीक्षा अधिकारी/सहायक समीक्षा अधिकारी 2014, चिकित्साधिकारी सहित अन्य कई महत्वपूर्ण Examination के Result जारी किए हैं। इन सभी के Application सपा शासन में लिए गए थे Interview Deputy Public Service Commission की वर्तमान कमेटी के निर्णय पर हुए। Examinations सपा शासन से जुड़ी होने के कारण CBI जांच की आंच इन पर
भी पड़नी तय है।

Initially These Examinations will be Investigation :

सपा शासन काल में 2011 से 2015 तक PCS Examinations से ढाई हजार पदों पर भर्तियां हुईं। इसमें 2011 में SDM and Deputy SP सहित अन्य श्रेणी के 389 पदों पर, 2012 में 345 पदों पर, 2014 में 650 पदों पर, 2014 में 579 और PCS-2015 Exam के तहत 251 पदों पर भर्तियां हुईं। इसके अलावा Five Year में लोअर सबआर्डिनेट परीक्षा (Lower Subordinate Examination)
के तहत 4138 पदों पर भर्तियां जांच के दायरे में होगी।

कृषि तकनीकी सहायक (Agricultural Technical Assistant) :

Commission ने सपा शासन में कृषि तकनीकी सहायकों की Examinations कराकर 6628 पदों पर Bharti की। इसमें OBC के आरक्षित पदों पर लंबा खेल होने की शिकायत हुई थी।

Investigation of the Results Released in Five Months :

प्रतियोगी छात्र संघर्ष समिति के मीडिया प्रभारी Avniish Pandey ने बताया कि UPPSC के वर्तमान अध्यक्ष Anirudh Singh Yadav की शैक्षणिक डिग्रियां संदिग्ध हैं। इनके कार्यकाल में जो भी बैकलॉग के रिजल्ट जारी हुए हैं उनकी शुचिता पर भी संदेह है। इसलिए पूर्व की भर्तियों के अलावा Five Months Interview के बाद जो Result जारी किए गए उनकी भी जांच आवश्यक हैं।

These departments have also been examined :

उप्र लोक सेवा आयोग ने सपा शासन के दौरान गृह पुलिस, उद्याग एवं खाद्य प्रसंस्करण, पशुपालन, नियोजन, उच्च शिक्षा, पुरातत्व एवं संस्कृति, खेलकूद, अधीनस्थ शिक्षा सेवा महिला शाखा (राजकीय इंटर कालेज), समाज कल्याण, वाणिज्य कर, लोक निर्माण विभाग, भूतत्व एवं खनिकर्म, ग्राम्य विकास, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य, चिकित्सा शिक्षा विभाग, व्यावसायिक शिक्षा, उद्योग,
हथकरघा वस्त्रोद्योग, सार्वजनिक उद्यग ब्यूरो, नगर विकास, जिला पंचायत, लोक सेवा आयोग, आयुर्वेद, होम्योपैथ, यूनानी, प्राविधिक शिक्षा, ग्रामीण अभियंत्रण सेवा।

Join Our CTET UPTET Latest News WhatsApp Group

Like Our Facebook Page

 
Posted in A WhatsApp Group to Become a Force, ALL, Govt. Jobs, Public Service Commission Hindi News Tagged with: , , ,

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Categories