New Pension Scheme for 40000 UP Teacher s Latest News in Hindi

New Pension Scheme for 40000 UP Teacher s Latest News in Hindi

Details for Education Department 40000 Teachers Employees New pension News today in Hindi in New Pension Scheme for 40000 UP Teacher s Latest News in Hindi

New Pension Scheme for 40000 UP Teacher s Latest News in Hindi

New Pension Scheme for 40000 UP Teacher s Latest News in Hindi

New Pension Scheme for 40000 UP Teacher s Latest News in Hindi: माध्यमिक शिक्षा विभाग ने अपने 40000 Teachers और कर्मचारियों को न्यू पेंशन स्कीम (एनपीएस) के दायरे में लाने का फैसला लागू कर दिया है ! अगले महीने से उनके वेतन से कटौती शुरू कर दी जाएगी !~ इसके लिए माध्यमिक शिक्षा निदेशक अम्र नाथ वर्मा ने सभी जिला विधालय निरीक्षको (डीआईओएस) को आदेश जारी कर दिया है !

राजकीय और सहायता प्राप्त माध्यमिक विधालयो में 1 April 2015 या उसके बाद नियुक्ति पाने वाले सभी शिक्षक और कर्मचारी अगले महीने से एनपीएस के दायरे में आ जायेंगे ! इसके लिए उनको मिलने वाले मूल वेतन और महंगाई भत्ते मे से हर महीने दस फीसदी राशी की कटौती की जाएगी ! माध्यमिक शिक्षा निदेशक के आदेश के मुताबिक जून में मिलने वाले वेतन से यह कटौती प्रारम्भ कर दी जाएगी ! चूँकि मई का वेतन ही जून में मिलेगा इसलिए एनपीएस इसी महीने से लागु मानी जाएगी ! विभाग ने न्यू पेंशन स्कीम में कटौती के लिए up डेस्को से ख़ास तौर पर एमआईएस सॉफ्टवेयर विकसित कराया है !

सभी जिला विधालय निरीक्षको को निर्देश दिए गये है की वे इस सॉफ्टवेयर की मदद से मई माह के वेतन से यह कटौती सुनिश्चित करे यहाँ बता दे की अप्रैल 2015 से नियुक्ति पाने वाले शिक्षको और कर्मचारियों के लिए पुरानी पेंशन व्यवस्था बंद कर दी गयी है ! न्यू पेंशन स्कीम का लाभ लेने के लिए उन्हें अपने वेतन में से 10 फीसदी अंशदान देना होगा और इतनी ही राशी राज्य सरकार मिलाएगी ! हालाँकि शिक्षक और कर्मचारी सन्गठन पुरानी पेंशन व्यवस्था की बहाली की मांग कर रहे है ! उनकी यह भी मांग थी की जब तक पुरानी पेंशन बहाल नही होती है तब तक उन्हें एनपीएस में शामिल किया जायेगा !

More Latest News in Hindi 

 
Posted in ALL, Latest News, UPTET, UPTET 2015 Notification, UPTET 2016, UPTET Latest News, UTET Tagged with:

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Categories