UP Govt Job Reservation High Court Latest News in Hindi

UP Govt Job Reservation High Court Latest News in Hindi

UP Govt Job Reservation High Court Latest News in Hindi: Uttar Pradesh Allahabad सरकारी नौकरियों में गलत तरीके से आरक्षण को लागू कर कुछ लोगो को लाभ पहुँचाने के मामलो पर High Court ने कड़ी नाराजगी जताई है | High Court ने कहा की ऐसा बार बार हो रहा है | जब पात्र लोगो को मिलने वाला गलत आरक्षण के कारण अपात्र व्यक्ति को चला जाता है | ऐसा लगता है की यह जानबूझकर सुनियोजित तरीके से किया जा रहा है |

UP Govt Job Reservation High Court Latest News in Hindi

UP Govt Job Reservation High Court Latest News in Hindi

लोक पदों पर बैठे अधिकारियो के लिए यह शर्मनाक है | जब लाखो युवा नौकरी के लिए कतार में लगे है तो जिसका जो हक़ है उसे दिया जाना चाहिए | वारणसी के दयाशंकर सिंह की याचिका पर सुनवाई कर रही न्यायमूर्ति वीके शुक्ला और न्यायमूर्ति संगीता चंद्रा की पीठ ने कहा की अगर ऐसा ही चलता रहा तो किसी न किसी को जेल जाना पड़ेगा | याची के अधिवक्ता सीमान्त सिंह ने बताया की याची ने लेखपाल भर्ती के लिए शारीरिक रूप से अक्षम व्यक्ति के कोटे में आवेदन किया था | इस कोटे के तहत कुल पांच सीते थी | याची सामन्य वर्ग का अभ्यर्थी है |

8 February 2016 को जारी प्रमाण में वह चयनित हो गया | इसके बाद जिला स्तरीय चयन कमेटी ने परिणाम संशोधित कर दिया | 19 March 2016 को घोषित संशोधित परिणाम में याची चयन सूचि से बाहर हो गया और उसकी जगह सामान्य की सीटे OBC और SC अभ्यर्थीयो से भर दी गयी, जबकि याची को उनसे अधिक अंक प्राप्त हुए थे | जबकि क्षेतिज आरक्षण उसी वर्ग के भीतर दिया जा सकता है, जिस वर्ग का अभ्यर्थी है | स्थाई अधिवक्ता रामानंद पंडित ने कहा की गलती से क्षेतिज आरक्षण को लागू कर दिया गया है, उन्होंने कोर्ट से अनुमति मांगी की इसे सुधारने की अनुमति दी जाए |

You May Also Like

Like
Our Facebook Page

UPTET Latest News

CTET Latest News

UPTGT UPPGT Latest News

SSC CGL Latest News Study Material & Sample Papers

Shiksha Mitra Latest News

CTET Study Material

UPTET Study Material

TET Sample Paper | Model Question Papers in Hindi

इस पर नाराजगी जताते हुए अदालत ने कहा की ऐसे मामले बार बार सामने आ रहे है | ऐसा लगता है की अधिकारी जानबूझकर ऐसा दांव चलते है | पकड़े गये तो माफ़ी मांग कर सुधार लार लेंगे | नही तो उनका काम बन जाएगा | कोर्ट ने कहा की इस गलती के लिए जिम्मेदार व्यक्ति सामने आना चाहिए | डिएम वाराणसी को 22 February तक व्यक्तिगत हलफनामा दाखिल कर स्पष्टीकरण दिए जाने का निर्देश दिया है |

More News Today in Hindi 

 
Posted in ALL, Latest News Tagged with:

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Categories