Farji BEd DEd Colleges Investigation Notice Latest in Hindi

Farji BEd DEd Colleges Investigation Notice Latest in Hindi

Farji BEd DEd Colleges Investigation Notice Latest in Hindi

फर्जी तरीके से सिर्फ कागजों में चल रहे B.Ed. Or D.Ed. Colleges पर अब जल्द ही ताले लग जाएंगे। NCTE (National Council for Teacher Education) ने अपनी जांच में ऐसे All Colleges को खोज निकाला है।

Farji BEd DEd Colleges Investigation Notice Latest in Hindi

Farji BEd DEd Colleges Investigation Notice Latest in Hindi

इनकी संख्या देशभर में 4 Thousand से ज्यादा है। इनके खिलाफ कार्रवाई भी शुरु हो गई है। पहले चरण में देशभर के करीब One Thousand B.Ed. Or D.Ed. Colleges की संबद्धता खत्म करने के लिए Notice भी जारी कर दिए गए हैं। बाकी Colleges को भी जल्द ही Notice जारी किए जाएंगे।

Some Related Links For B.Ed And D.Ed :

UP DL Ed. 2017 Re Apply Date Latest News in Hindi

 UP BTC 2016 2017 Admission Online Counselling Latest News in Hindi

 

NCTE ने यह कदम Colleges की जांच के बाद उठाया है, जिसमें All Colleges को जरुरी दस्तावेजों के साथ अपने संचालन के सुबूत भी देने थे। Colleges को यह जानकारी एक हलफनामे के जरिये देनी थी। चौंकाने वाली बात यह है कि इनमें Four Thousand से ज्यादा ऐसे College थे जो जांच प्रक्रिया (Investigation Process) में शामिल ही नहीं हुए।

इनकी ओर से न तो कोई दस्तावेज दिया गया और न ही संचालन का कोई सुबूत ही दिया गया। NCTE के मुताबिक, देशभर में मौजूदा समय में Total 16 Thousand B.Ed. Or D.Ed. College हैं, जबकि जांच के दौरान Total 12 Thousand Colleges ने ही अपने संचालन का सुबूत दिया। मानव संसाधन विकास मंत्रालय (Human Resource Development Ministry) से जुड़े वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक, जांच में सुबूत पेश नहीं करने वाले Colleges के खिलाफ Council ने कार्रवाई शुरु कर दी है।

इनमें सबसे ज्यादा College Uttar Pradesh, Madhya Pradesh and Rajasthan के हैं। पहले चरण में One Thousand Colleges को Notice दे दिया गया है। जिसका जवाब मिलते ही इनकी संबद्धता रद करने की कार्रवाई की जाएगी। इसके साथ ही नए में वे प्रवेश भी नहीं ले सकेंगे।

Join Our CTET UPTET Latest News WhatsApp Group

Like Our Facebook Page

 
Posted in ALL

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Categories