Child Development and Pedagogy Sample Question Answer Paper

Child Development and Pedagogy Sample Question Answer Paper

Child Development and Pedagogy Sample Question Answer Paper covers and provides Objective or Multiple Choice Questions and Answers for Child Development and Pedagogy in Hindi. Child Development and Pedagogy or बाल विकास एवं शिक्षा शास्त्र is one of the most important topic for All India TET or Teachers Eligibility Test because this topic is common for All Teachers Eligibility Test like APTET, CTET, CGTET, HTET, KTET, MPTET, Maharashtra TET, PTET, TNTET, Telangana TET and UPTET or Uttar Pradesh Teachers Eligibility TEST. From this section 30 Questions are asked in Teachers Eligibility Test. So to give you exam feel we have prepared 30 Questions with Answers for CDP or Child Development and Pedagogy section. Try to solve these questions in 30 Minutes in that way you can test you TET Preparation. Answers for this Practice Paper Set are given on the last page of the Practice Test.

Child Development and Pedagogy Sample Question Answer Paper (Index)

Child Development and Pedagogy Questions No. 1 to 10

Child Development and Pedagogy Questions No. 11 to 20

Child Development and Pedagogy Questions No. 21 to 30

Answers to Child Development and Pedagogy Questions

Other TET Sample Papers

Child Development and Pedagogy Sample Question Answer Paper

Child Development and Pedagogy Sample Question Answer Paper

1 बालक के व्यवहार के निधार्रण के विषय में निम्न में से वह व्यवहार कौन -सा है, जो न्यूनतम रूप से सत्य प्रतीत है ?

  1. जब बालक के सम्मुख अनेक लक्ष्य होते हैं, तो उसमें से कुछ अधिक प्रभावी होते हैं
  2. शारीरिक आवश्यकताओं से उत्पन्न आवश्यकताएॅ व्यवहार को अधिक प्रभावी करती हैं
  3. उद्देश्यपरकता व्यवहार के निर्धारण में प्रसन्नता के प्रेरक से अधिक प्रभावी मानी जाती है
  4. प्रत्येक बालक सुनिश्चत व्यवहारर प्रदर्शन की स्थिति में अपनी आवश्यकताओ की सन्तुष्टि हेतु अधिकाधिक प्रयास करता है

2 बाल- विकास का निर्धारण करने के लिए आवश्यक तत्व है

  1. बालक की अनुवंशिक संरचना द्वारा
  2. बालक की आनुुवंशिक तथा वातावरण दोनों की जटिल संरचना के द्वारा
  3. बालक सम्बन्धी वातावरण दबावों द्वारा जिन पर शिक्षक का कोइ नियन्त्रण नहीं होता है
  4. बालक सम्बन्धी उन वातावरण दबावों द्वारा जो विद्यालय द्धारा नियन्त्रित किए जा सकते हैं

3 बालकों में कल्पनाशील चिन्तन मुख्य आधार है

  1. विचारों का संगठन करने में
  2. कल्पनाशीनता का विकास करने के लिए एक यन्त्रा के रूप में
  3. सामाजिक सम्प्रेषण को विकसित करने के यन्त्रा के रूप में
  4. बालको द्वारा यथार्थ सम्मत तर्क विकसित करने में

4 बालको की जैवीय अवस्था का वर्णन करते समय वह घटक जिसे महत्व प्रदान करना आवश्यक नहीं है

  1. उॅंचाई को
  2. दन्त वृद्धि को
  3. शारीरिक शक्ति को
  4. वाचन योग्यता को

5 निम्न में से एक शिक्षक के लिए अपनी कक्षा में अनुशासन बनाए रखने के लिए क्या आवश्यक है

  1. बालकों के प्रति हमेशा कठोर व्यवहार करना
  2. बालकों की इच्छा के अनुरूप कार्य करना
  3. बालकों के साथ विनम्र रहना, किन्तु दृढ़ भी रहना
  4. हमेशा बालकों की जिद को पूरा करना

6 बालकों में सामाजिक अनुशासन बनाए रखने हेतु सर्वश्रेष्ठ उपाय है

  1. बालकों में भय औंर दण्ड पैदा करना
  2. बालकों की निन्दा करना
  3. बालकों में अच्छा बनने की इच्छा पैदा करना
  4. बच्चो को संस्कार देना

7 पाॅवलाॅव ने अपने अधिगम सिद्धान्त को किस रूप में प्रस्तुत किया है ?

  1. शास्त्राीय अनुबन्धन सिद्धान्त
  2. बन्धित प्रत्यावर्तन सिद्धान्त
  3. शास्त्राीय प्रत्यावर्तन सिद्धान्त
  4. अनुबिन्धत अनुबन्धन सिद्धान्त

8 बालकों में प्ररेणा हेतु उपयुक्त स्त्राोत नहीं है

  1. चालक
  2. उद्दीपन
  3. प्रेरक
  4. भोजन

9 व्यवहार में उत्तरोत्तर अनूकूलन की प्रकिया ही अधिगम है । निम्न में से यह किसका कथन था ?

  1. वुडवर्थ का
  2. थाॅर्नडाइक का
  3. जीने पियाजे का
  4. स्किनर का

10 आधुनिक प्राथमिक विद्यालयो में से किस विधि का प्रयोग नही किया जाता है

  1. पठन पूर्व तैयारियो का
  2. अनेकानेक पुस्तको का
  3. छात्राों द्वारा गठित कहानियो ं के आधार पर उनके अनुभवो ंकं संगठन का
  4. प्रारम्भिक पाठन हेतु वर्णमाला के ज्ञान का


Posted in ALL, CG TET, CGTET Study Material, CTET, HTET, HTET Study Material, PTET, PTET Study Material, TET Previous Year Question Paper, TET Sample Paper | Model Question Papers in Hindi, UPTET, UPTET Study Material Tagged with: , ,