Central Governtment School Teacher Bharti Process Postponed News in Hindi

Central Governtment School Teacher Bharti Process Postponed News in Hindi

Central Governtment School Teacher Bharti Process Postponed News in Hindi :

राजधानी के Goverment Schools में Teachers की Bharti Process पर उपराज्यपाल अनिल बैजल ने रोक लगा दी है। उपराज्यपाल की ओर से Delhi अधीनस्थ चयन सेवा Board (DSSSB) को दिए गए आदेश के बाद Board ने Bharti Process रोक दी है।

Central Governtment School Teacher Bharti Process Postponed News in Hindi

Central Governtment School Teacher Bharti Process Postponed News in Hindi

खास बात यह है कि उपराज्यपाल के इस आदेश के बाद हुई कार्रवाई की जानकारी खुद मनीष सिसोदिया ने दी। उन्होंने उम्मीद जताई कि दोबारा नियुक्ति Process में अतिथि Teachers को इंसाफ मिलेगा।
Teachers की नियुक्ति के मामले में Delhi सरकार का कहना था कि अतिथि Teachers को आयु में छूट मिलने के साथ-साथ अनुभव को भी तरजीह मिलनी चाहिए। करीन 15 Days पहले DSSSB ने 14,820 Teachers की Bharti के लिए विज्ञापन निकाला था। इच्छुक Candidates को 25 August तक Online
आवेदन करना था। इस Bharti में Delhi सरकार के Schools में अनुबंध या अतिथि Teachers के अलावा सर्व शिक्षा अभियान के तहत काम करने वालों को उम्र सीमा में छूट का भी प्रावधान था। लेकिन अनुबंध पर काम करने वाले
Teachers के अनुभव को वरीयता नहीं दी गई थी। इस पर Delhi सरकार को एतराज था। सरकार का कहना था कि अतिथि Teachers को उम्र में छूट देने के साथ उनके अनुभव को भी वरीयता देनी चाहिए। पिछले दिनों यह मामला Delhi विधानसभा के मानसून सत्र में भी उठा था कि Teachers की Bharti के लिए
DSSSB ने जो विज्ञापन निकाला है, वह Education के क्षेत्र में Delhi सरकार की तरफ से हो रहे कामों को पटरी से उतारने की साजिश है। इस बाबत विधानसभा में एक प्रस्ताव भी पारित किया गया था। इसके बाद शिक्षा निदेशालय ने DSSSB को एक Letter भी लिखा।

अतिथि Teachers ने किया स्वागत :

DSSSB द्वारा शिक्षा निदेशालय के अंतर्गत निकाली गई Teachers Bharti पर अगले आदेश तक रोक लगाने का अतिथि Teachers Bharti में पद काफी कम हैं।

अतिथि Teachers को नियमित करे सरकार :

नए Teachers की Bharti पर रोक लगाने के फैसले का भाजपा ने स्वागत किया है। उसका कहना है कि अतिथि Teachers के हितों को नजरअंदाज करके New Teachers की Bharti जा रही थी। हमारे विरोध के कारण Delhi सरकार को आखिरकार यह फैसला वापस लेना पड़ा।

Delhi Pradesh भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी का कहना है कि अतिथि Teachers ने अपने जीवन का सबसे महत्वपूर्ण समय Goverment Schools को दिया है। इस कारण नियमित Teachers की नियुक्ति में उनका पहला अधिकार है। इसे नजरअंदाज कर कर्मचारी चयन आयोग के माध्यम से Teachers की घोषणा की गई। इसलिए
भाजपा ने उपराज्यपाल और Delhi के मुख्यमंत्री के समक्ष विरोध दर्ज कराया था। भाजपा का कहना है कि पिछले सप्ताह अतिथि Teachers ने तिवारी से मुलाकात कर उनसे समर्थन मांगा था। इसके बाद उन्होंने Delhi के लिए कोटा निर्धारित करने की अपील की थी। साथ ही उपराज्यपाल अनील बैजल से भी बात की गई थी। अब Teachers की Bharti रोकने का आदेश जारी कर दिया गया है। इससे अतिथि Teachers को न्याय मिलने की उम्मीद बढ़ गई है।

Join Our CTET UPTET Latest News WhatsApp Group

Like Our Facebook Page

 
Posted in A WhatsApp Group to Become a Force, About UPTET, ALL, CTET Latest News, Govt. Jobs, Latest News Tagged with: , ,

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Categories