68500 Assistant Teacher Bharti Upasarg Study Material in Hindi

68500 Assistant Teacher Bharti Upasarg Study Material in Hindi

68500 Assistant Teacher Bharti Upasarg Study Material in Hindi

उपसर्ग

अतिलघु उत्तरीय प्रश्न

Very Short Question Answer

68500 Assistant Teacher Bharti Upasarg Study Material in Hindi

68500 Assistant Teacher Bharti Upasarg Study Material in Hindi

प्रश्न – उपसर्ग किसे कहते हैं?

उत्तर – वह शब्दांश अथवा अव्यय जो किसी शब्द के पहले लगकर उसका विशेष अर्थ प्रकट करता है। यह दो शब्दों (उप + सर्ग) के योग से बनता है। उप का अर्थ ‘समीप’ या ‘सन्निकट’ है तथा सर्ग का अर्थ ‘सृष्टि’ करना है, अर्थात जो पास में बैठकर अन्य नये अर्थों से युक्त शब्द की रचना करता है उसे उपसर्ग कहते हैं।

प्रश्न – अचल शब्द में कौन-सा उपसर्ग है?

उत्तर – अचल में अ उपसर्ग है। अ+चल = अचल।

प्रश्न – अत्याचार में उपसर्ग कौन-सा है?

उत्तर – अत्याचार में अति उपसर्ग है। अति + आचार = अत्याचार।

प्रश्न – क्रय शब्द में कौन-सा उपसर्ग लगाने से उसका अर्थ विपरीत हो जाता है?

उत्तर – क्रय में वि उपसर्ग लगाने से उसका अर्थ उसके ठीक विपरीत विक्रय हो जाता है।

प्रश्न – अभियान में उपसर्ग कौन-सा है?

उत्तर – अभियान में अभि उपसर्ग है। अभि का आशय ओर, समीप्य, अधिकता और इच्छा से है।

प्रश्न – सह उपसर्ग का क्या अर्थ है?

उत्तर – ‘सह’ उपसर्ग का अर्थ ‘साथ’ होता है।

प्रश्न – अनु उपसर्ग का क्या अर्थ है?

उत्तर – ‘अनु’ उपसर्ग का अर्थ पीछे, समान और क्रम होता है।

प्रश्न – वि उपसर्ग का क्या अर्थ है-

उत्तर – ‘वि’ उपसर्ग का अर्थ बिना, भिन्नता और विशेषता होता है।

विशिष्ट परीक्षा सामग्री

अति – अधिकता, ऊपर, आशय या उल्लंघन जैसे- अतिक्रमण, अतिरिक्त, अतिरेक, अत्युक्ति, अतिकाल इत्यादि।

अधि – श्रेष्ठता, निकटता, ऊपर जैसे- अधिकार, अधिनियम, अधिवक्ता, अध्यात्म, अध्यक्ष इत्यादि।

अनु – पीछे, समानता, क्रम जैसे- अनुगमन, अनुरुप, अनुज, अनुस्वार, अनुवाद, अनुशीलन, अनुपात, अनुचर इत्यादि।

अप – हीनता, लघुता, अभाव जैसे- अपकार, अपमान, अपकीर्ति, अपयश, अपवाद, अपशब्द, अपहरण, अपव्यय, अपभ्रंश, अपप्रयोग इत्यादि।

अभि – ओर, समीप्य, अधिकता, इच्छा जैसे- अभिगमन, अभिकथन, अभिभावक, अभिसार, अभिलाषा, अभिनव इत्यादि।

अव – दूर, नीचे, हीनता, जैसे – अवतार, अवमान, अवज्ञा, अवलोकन, अवसान, अवशेष, अवगत, अवस्था इत्यादि।

आ – तक, सीमा, ओर जैसे- आकण्ठ, आकम्प, आसमुद्र, आक्रम, अभरण, आरोहण, आरक्त, आगमन, आकाश, आकर्षण, आजन्म, आरम्भ, आचरण, आमुख, आदान, आक्रोश।

उत् (उद्) – उपर, श्रेष्ठता जैसे- उद्गम, उत्कंठा, उत्थान, उत्साह, उदभव, उत्तम, उत्कर्ष, उद्यम, उद्धत्, उन्नति इत्यादि।

उप – निकट, सदृश, गौण आदि जैसे- उपासना, उपक्रम, उपकार, उपकूल, उपस्थिति, उपभेद, उपमंत्री इत्यादि।

दुर् – बुरा, दुष्ट आदि जैसे- दुराचार, दुर्व्यवहार, दुर्जेय, दुर्दशा, दुरात्मा, दुर्गुण आदि।

दु:ख – कठिन, जैसे- दुष्कर, दु:सह, दुष्प्राप्य, दुस्साहस इत्यादि।

नि – नीचे जैसे- निकाय, निदर्शन, निषेध, निदान, निवारण, नियम, निकृष्ट, निपात, नियुक्त, निरोध, निबन्ध इत्यादि।

निर – बाहर जैसे-निर्गम, निर्दोष, निर्मल, निर्वाह, निराकण, निर्वास, निरपराध इत्यादि।

नि: – बिना, बाहर जैसे-नि:सार, नि:शड्क, निर्मूल, निरंजन।

परा – पीछे, उल्टा जैसे- पराजय, पराभूत, पराकाष्ठा इत्यादि।

परि – चारों ओर, आस-पास जैस-परिणाम, परित:, परिजन, परिक्रमा, परिणय, पर्याप्त, परिशीलन इत्यादि।

प्र – अधिक, यश जैसे- प्रभु, प्रकृति, प्रचलन, प्रलय, प्रसन्न, प्रकाश, प्रचार, प्रख्यात, प्रस्थान, प्रमाण, प्रताप, प्रपंच इत्यादि।

प्रति – ओर, उल्टा, परिवर्तन जैसे- प्रतिदिन, प्रतिगम, प्रतिरुप, प्रतिकार, प्रतिकूल, प्रतिक्षण, प्रतिध्वनि, प्रत्युपकार इत्यादि।

वि – बिना, भिन्नता, विशेषता जैसे- विफल, वियोग, विदेश, विवाद, विशेष, विशिष्ट, विराम, विभाग, विकार, विमुख इत्यादि।

सम् – अच्छी तरह, संयोग जैसे – सन्यास, संग्रह, सन्तोष, संहार, संयोग, संस्कार, संरक्षण, संसर्ग, सम्मुख, संग्राम आदि।

सु – सुन्दर, अच्छा, श्रेष्ठ आदि जैसे- सुपुत्र,  सुकर्म, सुगम, सुयश, सुशील, सुवास सुदूर, स्वागत आदि।

अ – नहीं के अर्थ में जैसे- अगाध, अमोल, अलग, अथाह, अकाल आदि।

अन् – निषेध या अभाव के अर्थ में जैसे – अनौचित्य, अनधिकार, अनजान, अनमोल आदि।

अध – आधे के आशय में जैसे- अधखिला, अधजला, अधकचरा, अधपका, अधमरा आदि।

कु – बुरा के आशय में जैसे – कुमार्ग, कुपात्र, कुचक्र, कुबुद्धि, कुसंगत, कुसमय आदि।

खुश – श्रेष्ठता के आशय में जैसे- खुशमिजाज, खुशबू, खुशहाल आदि।

बद – बुरा के अर्थ में जैसे – बदनाम, बदकिस्मत, बदबू, बदमाश आदि।

ना – अभाव के आशय में जैसे – नादान, नाबालिग, नाराज, नामंजूर आदि।

Join Our CTET UPTET Latest News WhatsApp Group

Like Our Facebook Page

 
Posted in Assistant Teacher Written Exam, UP Teachers Tagged with: , , , , ,

Leave a Reply

Your email address will not be published.

About Me

Manoj Saxena is a Professional Blogger, Digital Marketing and SEO Trainer and Consultant.

Categories